मोहे लगन लागी बस कान्हा तेरे नाम की भजन लिरिक्स

मोहे लगन लागी बस कान्हा तेरे नाम की भजन लिरिक्स
कृष्ण भजन लिरिक्स

मोहे लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की,
कान्हा तेरे नाम की,
श्याम घनश्याम की,
मुरली की धुन यूँ सुनाते ही रहना,
अपनी कृपा यूँ बनाये ही रखना,
मोहें लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की।।



यमुना किनारे गइयाँ चरावे,

गोपियन के संग में रास रचावे,
राधा रानी को पल पल रिझावे,
अधरन पे मीठी मुस्कान छावे,
मंद मंद मुस्की पे जाऊं बलिहार के,
कान्हा तेरे नाम की,
श्याम घनश्याम की,
मुरली की धुन यूँ सुनाते ही रहना,
अपनी कृपा यूँ बनाये ही रखना,
मोहें लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की।।



लोक लाज मीरा सब कुछ बिसरानी,

भक्ति में खो गयी प्रेम दीवनी,
जोगन हो गयी वो छोड़ राजधानी,
विष का प्याला पी गई अमृत समानी,
प्रेम ज्योत जली मन में,
जो घनश्याम की,
कान्हा तेरे नाम की,
श्याम घनश्याम की,
मुरली की धुन यूँ सुनाते ही रहना,
अपनी कृपा यूँ बनाये ही रखना,
मोहें लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की।।



रज वृन्दावन की मथुरा की पावन,

हो दर्श तेरा एक मन भावन,
कान्हा तेरी लगन में हम हो गए निहाल,
भक्ति में खो गया ‘राज’ बेहाल,
निसदिन मैं गाऊं महिमा,
तेरे गुणगान की,
कान्हा तेरे नाम की,
श्याम घनश्याम की,
मुरली की धुन यूँ सुनाते ही रहना,
अपनी कृपा यूँ बनाये ही रखना,
मोहें लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की।।



मोहे लगन लागी बस,

कान्हा तेरे नाम की,
कान्हा तेरे नाम की,
श्याम घनश्याम की,
मुरली की धुन यूँ सुनाते ही रहना,
अपनी कृपा यूँ बनाये ही रखना,
मोहें लगन लागी बस,
कान्हा तेरे नाम की।।

Singer – Raj Gupta


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!