मेरे श्याम धणी सरकार ओ सुन ले लखदातार भजन लिरिक्स

मेरे श्याम धणी सरकार ओ सुन ले लखदातार भजन लिरिक्स
खाटू श्याम भजन लिरिक्सफ़िल्मी तर्ज भजन लिरिक्स

मेरे श्याम धणी सरकार,
ओ सुन ले लखदातार,
हो जाए भव से पार,
जब भी तेरी कृपा हो,
मैं आया तेरे द्वार,
मेरी सुन लो करुण पुकार,
हो जाए भव से पार,
जब भी तेरी कृपा हो।।

तर्ज – ना कजरे की धार।



ओ तीन बाण के धारी,

लगती है शोभा प्यारी,
महिमा तेरी निराली,
ना जाने दुनिया सारी,
तेरी सूरत मेरे मोहन,
मैं देखूं बार बार,
मेरे श्याम धनी सरकार,
ओ सुन ले लखदातार।।



तेरी कितनी करूं मैं बढ़ाई,

ओ मेरे कृष्ण कन्हाई,
पड़े भीड़ तेरे भक्तों पर,
तूने ही लाज बचाई,
दुखहर्ता भक्तों के,
मिट जाते सब जंजाल,
मेरे श्याम धनी सरकार,
ओ सुन ले लखदातार।।



ओ खाटू वाले राजा,

थे सारो सबके काजा,
ताराचंद शरणा तेरी,
मेरी बिगड़ी बनाने आजा,
विनती सुन ले भक्तों की,
मेरी नैया लगा दो पार,
मेरे श्याम धनी सरकार,
ओ सुन ले लखदातार।।



मेरे श्याम धणी सरकार,

ओ सुन ले लखदातार,
हो जाए भव से पार,
जब भी तेरी कृपा हो,
मैं आया तेरे द्वार,
मेरी सुन लो करुण पुकार,
हो जाए भव से पार,
जब भी तेरी कृपा हो।।

गायक / प्रेषक – ताराचंद गवारिया।
mo. 9587539897


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!