माता भजन लिरिक्स

मैया जी के मंदिरों में हो रही जय जयकार भजन लिरिक्स

मैया जी के मंदिरों में,
हो रही जय जयकार,
जयकारों से भवन गूंजता,
भक्तों की लगी कतार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।



जग जननी जगदंबे मां की,

सबपे रहमत हो रही है,
अपने प्यारे भक्तों की,
मैया झोलियां भर रही है,
होती यहां मुरादे पूरी,
मिलता मां का दुलार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।



सच्ची श्रद्धा भक्ति से जो,

मां का सवाली बन जाता,
मईया के चरणों में बैठ कर,
अपने भावों को गाता,
जिनको सुनकर मईया रानी,
किरपा करे अपार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।



मां की महिमा का गुणगान,

सभी देवगन करते हैं,
ऋषि मुनि योगिजन सारे,
इनकी हाजरी भरते हैं,
सबका है कल्याण मां करती,
कर देती उपकार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।



‘श्याम’ मईया की सच्ची श्रद्धा,

भक्ति से गुण गाए जा,
सुन लेगी मां पुकार तू,
अपने नियम को अपनाए जा,
कृपा करेगी मां वरदानी,
सच्ची है सरकार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।



मैया जी के मंदिरों में,

हो रही जय जयकार,
जयकारों से भवन गूंजता,
भक्तों की लगी कतार,
मैया जी के मंदिर में,
हो रही जय जयकार।।

लेखक / स्वर – घनश्याम मिढ़ा।
भिवानी मोबाइल 9034121523


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!