शिव भजन लिरिक्स

मैं हूँ भोले भंडारी की दीवानी शिव भजन लिरिक्स

कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मैं हूँ भोले भंडारी की दीवानी,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।

तर्ज – कभी राम बनके।



मेरी मंजिल शिव का द्वारा,

शिव द्वारा लगे मुझे प्यारा,
शिव जी की मैं हूं भक्त,
जाऊंगी मैं बाबा धाम,
अब कैलाश ही है मेरा ठिकाना,
कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।



शिव धूनी में रहती मगन हूं,

निस दिन करती मैं पूजन हूं,
करती हूँ शिव का सिमरन,
गाती हूं शिव के भजन,
लब पे रहता है भोले का तराना,
कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।



शिव नाम की जप कर माला,

मेरा मन ये हुआ मतवाला,
शिव से लागी है लगन,
हरदम रहती हूं मगन,
बनकर हरदम,
मैं रहती हूं मस्तानी
कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।



मैंने भक्तों ये अपना जीवन,

कर दिया है शिव को अर्पण,
दासी हूं मैं शिव की,
शिव पर है मुझको विश्वास,
शिव को मैंने,
अपना है स्वामी माना,
कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।



अरदास है भोले इतनी,

शिवजी है यही मेरी विनती,
कृपा करना भोलेनाथ,
सर पे रखना अपना हाथ,
अपने भक्तों को,
शिवजी ना भुलाना,
कोई रोके ना मुझे,
कोई टोके ना मुझे,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।



कोई रोके ना मुझे,

कोई टोके ना मुझे,
मैं हूँ भोले भंडारी की दीवानी,
मै हूँ भोले भंडारी की दीवानी।।

और अधिक शिव भजन यहाँ देखें।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!