माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार भजन लिरिक्स

माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार भजन लिरिक्स
माता भजन लिरिक्स

माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार,

दोहा – तेरे चरण में सर को,
झुकाता रहूँगा मैं,
दो फूल तुझपे रोज़,
चढ़ाता रहूँगा मैं,
शृंगार तेरा,
चाँद सितारों से सजा है,
दरबार देख कर,
यही गाता रहूँगा मैं।



तेरा दरबार मैया तेरा दरबार,

माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार,
सुन्दर श्रृंगार मैया प्यारा दरबार,
माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार।।



नंगे पाँव दर पे आये राजा महाराजा,

ढोल ताशा बाजे दर पे बाजे नगाड़ा,
महिमा है तेरी मैया अपरम्पार,
माँ शेरोवाली प्यारा तेरा दरबार।।



तेरे चरण को चूमू आँखों से लगालूँ,

थोड़ी से कृपा कर दो भाग्य जगालूँ,
हम सब भिखारी बन के आये तेरे द्वार,
माँ शेरोवाली प्यारा तेरा दरबार।।



तू भी चला जा ‘सोनू’ बन के भिखारी,

वापस ना करती मैया भरे झोली खाली,
हमेशा भरा ही रहता माँ तेरा भण्डार,
माँ शेरोवाली प्यारा तेरा दरबार।।



तेरा दरबार मैया तेरा दरबार,

माँ शेरोवाली प्यारा तेरा दरबार,
सुन्दर श्रृंगार मैया प्यारा दरबार,
माँ शेरावाली प्यारा तेरा दरबार।।

Singer – Kumar Sonu


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!