गणेश भजन लिरिक्स

गजानन द्वारे आ गए रे गणपति भजन लिरिक्स

आ गए आ गए आ गए रे,
गजानन द्वारे आ गए रे,
गजानन दुआरे आ गए रे।।



गलियन गलियन फूल बिछाये,

कंचन कलस जलाये,
रे भैया चन्दन चौकी आसान दिनी,
इत्र दये छिड़काये,
सब के मन हर्षाये रे,
गजानन दुआरे आ गए रे,
आ गए आ गए आ गए रे,
गजानन दुआरे आ गए रे।।



एक वर्ष के बाद है आये,

हम सब आस लगाए,
झूमे नाचे खुसी मनाये,
लडुअन भोग लगाए,
कपित जम्भू फल लाये रे,
गजानन दुआरे आ गए रे,
आ गए आ गए आ गए रे,
गजानन दुआरे आ गए रे।।



अगले बरस फिर जल्दी आना,

हम को भूल ना जाना,
निज चरणों की भगती देना,
भगत रहे हर्षाये,
ऐसे भाग्य जगाये रे,
गजानन दुआरे आ गए रे,
आ गए आ गए आ गए रे,
गजानन दुआरे आ गए रे।।



आ गए आ गए आ गए रे,

गजानन द्वारे आ गए रे,
गजानन दुआरे आ गए रे।।

प्रेषक – दुर्गा प्रसाद पटेल।
9713315873


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!