फागुन में उड़े रे गुलाल कहियो नंदरानी से भजन लिरिक्स

फागुन में उड़े रे गुलाल कहियो नंदरानी से भजन लिरिक्स
ढोलक भजन लिरिक्स

फागुन में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से,
कहियो नंदरानी से,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



म्हारी तो राधा गोरी गोरी,

गोरी गोरी राधा गोरी गोरी,
श्याम सलोने नंदलाल,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



म्हारी तो राधा भोली भाली,

भोली भाली राधा भोली भाली,
नटखट नंद को लाल,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



राधा के हाथों में चूड़ियां सोहैं,

चूड़ियां सोंग राधे कंगन सोंहैं,
बंसी बजावे नंदलाल,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



राधा के माथे पर बिंदिया सोहै,

बिंदिया सो है राधा बिंदिया सोहै,
मोर मुकुट नंदलाल,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



मीरा के प्रभु गिरिधर नागर,

गिरधर नागर गिरधर नागर,
संग नाचे नंदलाल,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।



फागुन में उड़े रे गुलाल,

कहियो नंदरानी से,
कहियो नंदरानी से,
कहियो नंदरानी से,
फागुण में उड़े रे गुलाल,
कहियो नंदरानी से।।

Singer – Suman Sharma


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!