छोड़ गए तुम हमको मोहन जग में किसके सहारे भजन लिरिक्स

छोड़ गए तुम हमको मोहन जग में किसके सहारे भजन लिरिक्स
कृष्ण भजन लिरिक्स

छोड़ गए तुम हमको मोहन,
जग में किसके सहारे,
टूट रही साँसों की डोरी,
अब तो दर्श दिखा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे।।



जीवन में कुछ भी नहीं है,

बिन अब तुम्हारे,
तेरे बिना ये मोहन,
किस काम का रे,
किसके सहारे जियूं अब मैं,
हे जग पालनहारे,
आजा रे सांवरे आजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे।।



आँखों को हर घडी है,

इंतज़ार तेरा,
जीवन है रात काली,
कर दो सवेरा,
अपने चाहने वालों को,
अब इतना ना तरसा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे।।



प्राण पखेरू चाहे,

अब हो भी जाएँ,
ग़म बस रहेगा तुमसे,
हम मिल ना पाए,
आके दर्श दिखा दे या फिर,
प्राण मेरे लेजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे।।



छोड़ गए तुम हमको मोहन,

जग में किसके सहारे,
टूट रही साँसों की डोरी,
अब तो दर्श दिखा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे,
आजा रे सांवरे आजा रे।।

Singer – Muskan Sharma


Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!